News

सरदार पटेल की तरह नरेंद्र मोदी का सपना, Akhand Bharat का निर्माण हो

सरदार पटेल की तरह नरेंद्र मोदी का सपना, अखंड भारत का निर्माण हो

भारत के प्रथम गृहमंत्री सरदार बल्लभ भाई पटेल और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी में कई समानताये है। दोनों का ही गृह राज्य गुजरात है और देशहित में कठिन से कठिन निर्णय लेने से पीछे नहीं हटते। सरदार पटेल ने भारत की सम्प्रभुता और सम्पन्नता के लिए सभी रियासतों का विलय भारत में किया, तो वही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी कुशल विदेश निति से सभी पडोसी राज्यों के साथ भारत के सम्बन्धो को मजबूत आधार दिया है। दोनों ने ही akhand Bharat की आधारशिला को मजबूत करने का कार्य किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अखंड भारत की दिशा में कार्य करने को हम वही से देख सकते है, जब उन्होंने अपने शपथ ग्रहण समारोह के दौरान सभी पडोसी देशो के राष्ट्राध्यक्षों को आमंत्रित किया। इससे पहले किसी भी सरकार ने ऐसा नहीं किया।

इन सभी राष्ट्राध्यक्षों की सूची में कोई भी पश्चिमी देश का राष्ट्राध्यक्ष नहीं था, बल्कि वो राष्ट्राध्यक्ष रहे जो राष्ट्र पहले कभी akhand Bharat का हिस्सा रहे है। जिसमे नेपाल, पाकिस्तान, भूटान, श्रीलंका, अफगानिस्तान, बांग्लादेश, मालदीव, मॉरीशस के राष्ट्राध्यक्ष प्रधानमंत्री के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल हुए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने ३ साल के कार्यकाल के दौरान, भारत के सभी छोटे बड़े पडोसी देशो के साथ आर्थिक, सामाजिक और सुरक्षा की दृष्टि से सम्बन्धो को मजबूत किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लम्बे समय से बांग्लादेश के भू-सीमा विवाद को मंजूरी देकर इतिहास बना दिया था। इससे पहले किसी भी सरकार ने इस तरह से अपने पडोसी मुल्को के साथ सम्बन्धो को मजबूत नहीं किया। जिसका फायदा हमेशा से चीन को मिला, लेकिन मोदी सरकार की कुशल कूटनीति से पहली बार ऐसा हुआ की चीन को अपने कदम पीछे लेने पड़े।

आज चाहे चीन हो या पकिस्तान, सभी अंतरास्ट्रीय मंच पर अलग थलग पड़े हुए है और वही सभी पडोसी देश व पश्चिमी देश भारत के समर्थन में है।

सरदार पटेल के akhand Bharat के सपने को पूरा करने का कार्य प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कर रहे है। जहा अन्य सरकारों ने देश को धर्म और जाति के नाम पर बाटने का कार्य किया, तो वही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की अखंडता, एकता, सम्प्रुभता और सम्पन्नता को बरक़रार रखने के लिए सबका साथ सबका विकास नारे के साथ अपने कार्य की शुरआत करी।

७० सालो में जहा कांग्रेस ने सरदार पटेल के द्वारा किये गए योगदान के लिए कुछ नहीं किया। तो वंही मोदी सरकार ने सरदार पटेल की मूर्ति का निर्माण कार्य शुरू किया, जिसे statue of unity नाम दिया गया।

देश के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुख़र्जी और दुनिया के तमाम समाजशास्त्री, अर्थशास्त्रियों ने मोदी सरकार के कार्यो की तारीफ़ की है, और ये कहा की भारत में बहुत क्षमता है, मजबूत और दृण संकल्पो के साथ सरकार ऐसे ही देश के लोगो के साथ खड़ी रहती है तो निश्चित ही आने वाले समय में भारत दुनिया की super power होगा। वो दिन दूर नहीं होगा, जब भारत विश्व गुरु होगा।

आपको हमारा ये article कैसा लगा, हमे कमेंट करके जरूर बताये। हम अबसे लगातार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राज्य में उपस्थित सरकारों के कार्यो की समीक्षा लेकर आपके सामने उपस्थित होंगे। अगर आप हमे अपना कोई सुझाव भेजना चाहते है तो आप हमे info@talkfromheart.in पर ईमेल भी कर सकते है। 

like talk from heart Facebook page and Twitter page to get latest updates.

Facebook page: Talk From Heart

Twitter Page: Talk from Heart

About the author

Talk From Heart

In TFH, You can see Hindi News, Blogging Tips, SEO Tips, Internet se paise kaise kamaye hindi me, Affiliate Marketing se paise kaise kamaye hindi me, Travel, Tourist Places, Movie Reviews, Product Reviews, Job, Education, Business Ideas, Career Tips, Entertainment, Quotes. Always Support to Newbie Bloggers.

2 Comments

Leave a Comment

error: Content is protected !!